Rajbhasha

 

जवाहर नवोदय विद्यालय सैन्द्वार चांदपुर, बिजनौर उत्तर प्रदेश-२४६७२५

राजभाषा (वैजयंती) प्रोत्साहन (पुरस्कार) के लियें विद्यालय स्तर पर किये गये प्रयासों का विवरण

माह दिसम्बर-२०१६ से माह फरवरी २०१७ तक

  • पत्राचार –हिंदी में  ७०% और  अंग्रेजी में ३०% किया गया
  • राजभाषा के लियें लगातार ०४ पत्र नराकास मुरादाबाद को लिखे गये| ताकि हर गतिविधि की सूचना हो|
  • सभी मोहरें व नामपट्ट हिंदी हैं|
  • हिंदी पुस्तकों पर पुस्तकालय में कुल बजट का ६५% खर्च किया गया है|  विद्यालय का पुस्तकालय आकर्षण का केंद्र है जहाँ करीब २४ पत्रिकाएँ केवल हिंदी में ही मंगायी जाती हैं व पढ़ी जाती हैं| पुस्तकालय को हिंदी में प्रेरणात्मक विचारों व सूक्तियों से सजाया गया है| अधिकतर बच्चे किताबों को हिंदी में पढना पसंद करते हैं| हिंदी  उनकी मात्रभाषा है|
  • कुल कंप्यूटर संख्या-४७ | २५ कंप्यूटर पर हिंदी सॉफ्टवेयर की उपलब्धता व सक्रियता है| अधिकतर छात्र हिंदी में टंकण करना जानते हैं|  मानवीयकरण धारा के छात्रों ने अपनी प्रयोगात्मक फाइल हिंदी में लिखीं हैं और हिंदी में ही टंकण किया है|
  • अगली राजभाषा हिंदी के सदस्यों की बैठक प्राचार्य महोदय की अध्यक्षता में मार्च महीने के प्रथम सप्ताह में आयोजित की जाएगी|
  • प्रतियोगिताओं का आयोजन – विद्यालय स्तर पर निम्नलिखित निबन्ध लेखन प्रतियोगिताओं का आयोजन हिंदी विभाग से जुड़े अध्यापकों के निर्देशन में किया गया|
  • अ) मतदाता जागरूकता कार्यक्रम डी. आई. ओ. एस महोदय के निर्देशन में लगातार १५ दिन तक (२६ जनवरी से १२ फरवरी तक) कार्यक्रम प्रस्तुत किये गये सभी अभिभावकों में मतदाता जागरूकता लाने के लियें , भूमिगत जल राष्ट्र की जीवन रेखा, पर्यावरण संरक्षण,घर की इज्जत शौचालय निर्माण,स्वच्छता अभियान, मुद्राविहीन लेनदेन,डिजिटल भारत का सपना,ऊर्जा संरक्षण, बागवानी, वृक्षारोपण ,राजनीतिक दलों में राष्ट्रीयता की भावना आदि|
  • विद्यालय स्तर पर पत्रिकाओं का विमोचन- सुहासिनी एवं मन्दाकिनी | इन पत्रिकाओं के लियें कनिष्ठ व वरिष्ठ दोनों वर्गों के छात्र छात्राओं ने कविताएँ, लेख,विचार, निबन्ध लिखकर अपने विचारों को व्यक्त किया है|
  • कविता व कहानी –समसामयिक विषयों पर
  • लेख समसामयिक विषयों पर
  • नाटक व देश भक्ति गान
  • जवाहर नवोदय विद्यालय  चयन परीक्षा के आवेदन पत्र शैक्षणिक सत्र २०१७-१८ में  ८००० से ज्यादा की संख्या में वितरित किये जाने का लक्ष्य  | संस्थान द्वारा नवोदय विद्यालय प्रवेश परीक्षा की जानकारी, अभिभावक शिक्षक गोष्ठी सूचना,निविदाएँ,
  • आयोजित कार्यक्रम की रिपोर्ट,प्रकाशन, अख़बारों में गति निर्धारक कार्यक्रमों की सूचनाएँ
  • साक्षरता व प्रोढ़ शिक्षा कार्यक्रमों द्वारा हिंदी लेखन व पठन बोध कार्यक्रम करना
  • प्रस्तावित तिथि- मार्च का प्रथम सप्ताह बैठक आयोजित करने के लियें|
  • फाइलें आदि का मुख्य पृष्ठ व अभ्यंतर टिप्पणियाँ सतत हिंदी में अंकित की जाती हैं| रजिस्टरों पर भी प्रविष्टियाँ शत प्रतिशत हिंदी भाषा में ही की जाती हैं|
  • प्राचार्य महोदय के द्वारा अनवरत कर्मचारियों व अध्यापकों को अधिकतर कार्य हिंदी में ही करने के लियें प्रेरित किया जाता है| सभी कर्मचारी ज्यादातर अपनी छुट्टी के आवेदन हिंदी में ही लिखते हैं|
  • मतदाता जागरूकता अभियान जो पखवाड़े के रूप में विद्यालय में मनाया गया उसमें निम्नलिखित गतिविधियाँ आयोजित की गयीं:-

निबंध प्रतियोगिता विषय:- मत/ वोट हमारा अधिकार है

छात्रों के द्वारा सूक्तियां श्याम पटों पर लिखी गयीं – अब किस बात की देरी,वोट डालने की करो तैयारी | वोट मेरा संवैधानिक अधिकार है, सही सरकार चुनना मेरा अधिकार है| दात्तियाना गाँव व सैन्धवार गाँव में अध्यापकों व छात्रों के साथ रैली निकाली गयी ताकि गाँव वालों में अपने मतदान के अधिकार के प्रति जागरूकता आये| पोस्टरों व बैनरों पर प्रविष्टियाँ लिखकर प्रदर्शन किया गया| गाँव के चौराहे पर एक नुक्कड़ नाटक हिंदी में रंगमंच पर फिल्माया गया जिसका विषय था- पढ़ना,लिखना नहीं आता पर हूँ मैं देश की विवेकी मतदाता|

अभिभावकों के साथ पी.टी.सी.की बैठक में भी प्राचार्य व अन्य अध्यापकों के द्वारा मतदान पर चर्चा की गयी, विचारों का आदान प्रदान हिंदी के माध्यम से किया गया|

बच्चे व अध्यापक सभी हिंदी भाषा में अपनी अपनी रचनाएँ प्रस्तुत कर रहे हैं व सुहासिनी पत्रिका के लियें साहित्यिक गतिविधि क्लब के प्रभारी श्री डी.एस.रावत (टी.जी.टी हिंदी) को सौंपी गयीं| सभी रचनाओं का हिंदी विभाग के अध्यापकों के द्वारा सुधार किया जा रहा है| सत्र २०१७-१८ की यह सबसे अधिक प्रेरणादायी व सार्थक पत्रिकाओं में से एक होगी| हमने हर कक्षा के छात्र छात्राओं से उनकी मूल व प्रभावशाली रचनाओं को एकत्रित किया है, उनका संकलन किया तथा विमोचन किया| इस पत्रिका का उद्घाटन श्री भगत सिंह आज़ाद (एस.डी.एम. चांदपुर, बिजनौर) के कर कमलों के द्वारा दिनांक ३१ मार्च २०१७ को विद्यालय के परीक्षा फल को घोषित करते समय किया जायेगा| यह बड़ा ही हर्ष का विषय है कि कक्षा ०६ के छात्र छात्राएँ भी बहुत सुन्दर तरीके से अपने विचारों को कविता के माध्यम से व्यक्त कर सकते हैं|

हमने अपनी हर कार्य शैली में केवल हिंदी को ही बढ़ावा दिया है|  ममता अग्रवाल

 

 

Untitled Document